Breaking

Thursday, February 13, 2020

Chandi Devi Temple-Haridwar

Introduction:


Chandi Devi temple-Haridwar के नील पर्वत पर स्थित है। यह पर्वत हिमालय की शिवालिक पर्वत श्रृंखलाओं का एक हिस्सा है। यह मंदिर घने जंगलों के बीच स्थित है, मंदिर तक पहुंचने के लिए भक्तों को। 2.5 किलोमीटर की चढ़ाई करनी पड़ती है।


अतः मंदिर तक पहुंचना कठिन हो जाता है। यह मंदिर। माता चंडी देवी को समर्पित है।

Story of Chandi Devi Temple:


पुराणों के अनुसार शुंभ निशुंभ नामक  राक्षसों ने स्वर्ग पर आक्रमण कर उसे अपने अधीन कर लिया। और देवताओंं को को स्वर्ग छोड़ने पर विवश छोड़ने पर  विवश होना पड़ा।

जब सारे देवता गण इस समस्या का हल निकालने के लिए गवान विष्णु के पास गए तो उन्होंने देवताओं को माता पार्वती की शरण मैं जाने को कहा माता पार्वती ने, चंडिका का रूप धारण कर। शुंभ निशुंभ द्वारा भेजेेेेे गए राक्षस का वध कर दिया और अंततःउनका वध कर दिया  इसके पश्चात माता।

कुछ क्षण के लिए विश्राम के लिए। एक पर्वत पर रुकी। जहां  आज यह। मंदिर स्थापित है।


इस मंदिर की स्थापना आदि शंकराचार्य द्वाराा की गई थी। जिसे बाद में। कश्मीर केे राजा द्वारा बनवाया गया।
मुख्य मंदिर के बगल में माता अंजना का भी एक मंदिर है जो कि हनुमान जी की माता है।

How to reach Chandi Devi Temple:

चंडी देवी मंदिर तक पहुंचने के लिए आपको पहले हरिद्वार पहुंचता होगा, जो कि अन्य बड़े शहर हो से रेल और सड़क मार्ग द्वारा अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।


इसके पश्चात मंदिर तक पहुंचने। के लिए रोपवे पैदल रास्ते का चुनाव करना होगा, पहाड़ी क्षेत्र होने की वजह से रास्ता काफी कठिन हो जाता है और सीधी चढ़ाई होने के कारण मंदिर तक पहुंचना आसान नहीं रह जाता।


रास्ते का चुनाव आप अपनी सुविधा अनुसार ही करें, यदि आपको स्वास्थ्य से जुड़ी कोई समस्या है तो आप Ropeway से ही मंदिर तक जाए जो कि एक आसान और सुरक्षित रास्ता है।  
Chandi Devi Temple-Haridwar में रोपवे सुबह 6:00 से लगाकर शाम। 6:00 बजे तक। चालू रहता है।

पहाड़ी क्षेत्र और जंगल होने के कारण दिन में यात्रा करना ज्यादा सुरक्षित रहेगा, अतः कोशिश करें कि आप अंधेरा होने से पहले दर्शन कर नीचे उतर जाए।


Chandi Devi Temple Arti Timings:


Morning: 6AM

Evening:7PM

Points To Remember-

  •  मंदिर के पैदल रास्ते में प्रसाद की दुकानें हैं लेकिन आप प्रसाद मंदिर पहुंचकर ले
  •  मंदिर के अंदर कैमरा और फोटो खींचना मना है
  •  मंदिर ऊंचाई पर स्थित है  इसलिए यात्रियों को समय से दर्शन कर नीचे उतर आना चाहिए
  •  मंदिर तक पहुंचने के मार्ग का चुनाव अपने स्वास्थ्य के अनुसार ही करें

Attractions Near Chandi Devi Temple:

  •  हर की पौड़ी
  •  मनसा देवी मंदिर
  •  कनखल
  •  राजाजी नेशनल पार्क आदि है

Conclusion:

Chandi Devi Temple-Haridwar यात्रियों को एक बार अवश्य आना चाहिए यहां पहुंच कर आपको एक विशेष अध्यात्म का अनुभव होगा जो आपको एक शांति प्रदान करेगा।

No comments: